Monday, December 11, 2023
spot_img
More

    Latest Posts

    अच्छी अंग्रेजी बोलते हैं अतीक के नाबालिग बच्चे: कस्टडी मामले में सुप्रीम कोर्ट में रिपोर्ट दाखिल, तर्क-अच्छे स्कूलों में पढ़ते थे..अब बाहर जाना चाहते हैं

    • Hindi News
    • Local
    • Uttar pradesh
    • Prayagraj
    • Atiq’s Minor Children Speak Good English : Filed A Report In The Supreme Court In The Matter Of Custody, Reasoning – Used To Study In Good Schools..now Want To Go Out

    प्रयागराज2 मिनट पहले

    • कॉपी लिंक

    माफिया अतीक अहमद दो नाबालिग बच्चों ऐजम और आबान की कस्टडी का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को इस मामले की सुनवाई हुई। सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट द्वारा भेजे गए वकील केसी जॉर्ज ने सुप्रीम कोर्ट में सील बंद रिपोर्ट दाखिल कर दी है। सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया है कि रिपोर्ट की कॉपी दोनों पक्षकरों से साझा करने कर दिया जाए। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों से रिपोर्ट पर जवाब देने को कहा। सुप्रीम कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई 4 सितंबर को होगी।

    अतीक अहमद की बहन शाहीन अहमद ने अतीक के दोनों नाबालिग बच्चों ऐजम और आबान की कस्टडी की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। इससे पहले शाहीन अहमद ने इलाहाबाद हाई कोर्ट से बच्चों की कस्टडी दिए जाने की मांग को लेकर अर्जी दाखिल की थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए कस्टडी देने से इनकार कर दिया था। इस फैसले के खिलाफ शाहीन ने सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज किया है।

    बाहर जाकर पढ़ने की अनुमति मांगी

    सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई अर्जी में शाहीन बेगम ने कहा है कि हमारे दोनों भतीजे ऐजम और आबान प्रयागराज के टॉप स्कूल में पढ़ रहे थे। दोनों ने अच्छी तालीम हासिल की है। अच्छी अंग्रेजी बोलते हैं। अब दोनों बच्चे राज्य से बाहर जाना चाहता हैं। उनको आस-पास के हालात के बारे में पता है। लिहाजा उन्हें कस्टडी दी जाए और बाहर जाकर पढ़ने की अनुमति प्रदान की जाए।

    राजरूपपुर बाल सुधार गृह में हैं दोनों बच्चे

    माफी अतीक अहमद के दोनों नाबालिग बेटे राजरूपपुर स्थित बाल सुधार गृह में रखे गए। इस बाल सुधार गृह की सुरक्षा व्यवस्था को काफी चाक-चौबंद किया गया है। बावजूद इसके अतीक अहमद की बहन शाहीन अहमद ने दोनों नाबालिग बेटों की कस्टडी रिमांड मांगी है। इलाहाबाद हाईकोर्ट से रिमांड ठुकराए जाने के बाद अब उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो रही है।

    सुप्रीम कोर्ट ने वकील नियुक्त कर बयान दर्ज करने का दिया था आदेश

    इससे पूर्व सुप्रीम कोर्ट ने 19 अगस्त 2023 को इस मामले की सुनवाई की थी। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एस रवींद्र भट्ट और जस्टिस अरविंद कुमार की पीठ ने बच्चों के बयान दर्ज करने का आदेश दिया था।। इसके लिए उन्होंने एक इंडिपेंडेंस वकील को नियुक्त करने के लिए भी कहा था। याचिकाकर्ता शाहीन अहमद ने वकील का नाम भी सुप्रीम कोर्ट को दिया था। अब वकील ने सुप्रीम कोर्ट में दोनों नाबालिक बच्चों के बयान दर्ज करने के बाद अपने रिपोर्ट सोमवार को सौंप दी है।

    खबरें और भी हैं…



    Source link

    Latest Posts

    Don't Miss

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.